सीधे कॉन्टेंट पर जाएं

हमारे Partners programs के बारे में जानें

हमारा मानना है कि ऑनलाइन होने वाले नुकसान की पहचान करने और उनसे बचने के लिए, संगठनों के साथ मिलकर काम करने से फ़ायदा होता है. Google और YouTube में चलाए जाने वाले, बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट से लेकर, Priority Flagger Program जैसे Partner Programs के बारे में जानें.

Priority Flagger Program

पार्टनर से मिलने वाली शिकायतों को प्राथमिकता देना

हमारे Priority Flagger Program में शामिल होने वाले संगठनों को ऐसे चैनल मिलते हैं जिनका इस्तेमाल करके, वे हमारे प्रॉडक्ट और सेवाओं को संभावित तौर पर नुकसान पहुंचाने वाली समस्याओं की सूचना दे सकते हैं. ये ऐसी समस्याएं होती हैं जिनसे हमारे कम्यूनिटी दिशा-निर्देशों और नीतियों का उल्लंघन होता है. आम तौर पर, पार्टनर संगठनों के पास इनका ऐक्सेस होता है:

  • नीति के संभावित उल्लंघनों की सूचना देने के लिए, खास तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले चैनल का ऐक्सेस. इस चैनल से की गई शिकायतों की प्राथमिकता से समीक्षा की जाएगी.
  • Google और YouTube की कॉन्टेंट से जुड़ी नीतियों के बारे में मौजूदा चर्चाओं और सुझाव, शिकायत या राय का ऐक्सेस.

टीम के एक सदस्य के चारों ओर एक विविध टीम एक खुली फ़ाइल रखती है और उसकी सामग्री की समीक्षा करती है।
टीम के एक सदस्य के चारों ओर एक विविध टीम एक खुली फ़ाइल रखती है और उसकी सामग्री की समीक्षा करती है।
पार्टनर से मिलने वाली शिकायतों को प्राथमिकता देना

हमारे Priority Flagger Program में शामिल होने वाले संगठनों को ऐसे चैनल मिलते हैं जिनका इस्तेमाल करके, वे हमारे प्रॉडक्ट और सेवाओं को संभावित तौर पर नुकसान पहुंचाने वाली समस्याओं की सूचना दे सकते हैं. ये ऐसी समस्याएं होती हैं जिनसे हमारे कम्यूनिटी दिशा-निर्देशों और नीतियों का उल्लंघन होता है. आम तौर पर, पार्टनर संगठनों के पास इनका ऐक्सेस होता है:

  • नीति के संभावित उल्लंघनों की सूचना देने के लिए, खास तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले चैनल का ऐक्सेस. इस चैनल से की गई शिकायतों की प्राथमिकता से समीक्षा की जाएगी.
  • Google और YouTube की कॉन्टेंट से जुड़ी नीतियों के बारे में मौजूदा चर्चाओं और सुझाव, शिकायत या राय का ऐक्सेस.

बिंदुओं और प्रोग्रेस बार का इस्तेमाल करके बनाया गया एक इलेस्ट्रेशन, जो भरोसेमंद फ़्लैगर से की समीक्षा की प्रोसेस को दिखाता है.
समीक्षा करने की हमारी प्रक्रिया

हमारे मॉडरेटर, कम्यूनिटी दिशा-निर्देशों और नीतियों के मुताबिक, भरोसेमंद फ़्लैगर से मिलने वाली शिकायतों की समीक्षा करते हैं. भरोसेमंद फ़्लैगर की ओर से दर्ज की गई समस्याएं, न तो अपने-आप हटती हैं और न ही उन पर कोई दूसरी नीति लागू होती है - लोगों से मिलने वाली शिकायतों पर भी यही नियम लागू होते हैं. हालांकि, भरोसेमंद फ़्लैगर की विशेषज्ञता और विश्वसनीयता को अहमियत देते हुए, हमारी टीमें उनसे मिलने वाली शिकायतों की प्राथमिकता से समीक्षा करती हैं.

बिंदुओं और प्रोग्रेस बार का इस्तेमाल करके बनाया गया एक इलेस्ट्रेशन, जो भरोसेमंद फ़्लैगर से की समीक्षा की प्रोसेस को दिखाता है.
समीक्षा करने की हमारी प्रक्रिया

हमारे मॉडरेटर, कम्यूनिटी दिशा-निर्देशों और नीतियों के मुताबिक, भरोसेमंद फ़्लैगर से मिलने वाली शिकायतों की समीक्षा करते हैं. भरोसेमंद फ़्लैगर की ओर से दर्ज की गई समस्याएं, न तो अपने-आप हटती हैं और न ही उन पर कोई दूसरी नीति लागू होती है - लोगों से मिलने वाली शिकायतों पर भी यही नियम लागू होते हैं. हालांकि, भरोसेमंद फ़्लैगर की विशेषज्ञता और विश्वसनीयता को अहमियत देते हुए, हमारी टीमें उनसे मिलने वाली शिकायतों की प्राथमिकता से समीक्षा करती हैं.

विशेषज्ञ संगठनों के साथ मिलकर काम करना

हमारा कार्यक्रम, उन एनजीओ और सरकारी एजेंसियों के लिए पूरी तरह सही है जो नुकसान पहुंचाने वाले ऑनलाइन कॉन्टेंट की पहचान करने और उससे निपटने वाले विशेषज्ञों के तौर पर काम करते हैं. इनके पास, कम से कम किसी एक नीति के क्षेत्र में विशेषज्ञता होती है. हम यह भी देखते हैं कि इन संगठनों के पास, हमें अनुरोध सबमिट करने की क्षमता है या नहीं. साथ ही, वे इन मुद्दों पर साथ मिलकर काम करना चाहते हैं या नहीं. हम उम्मीद करते हैं कि शिकायत करने वाले, किसी भी कॉन्टेंट की शिकायत करते समय निष्पक्ष रहेंगे और मानवाधिकारों का पूरा ध्यान रखेंगे.

एक कोलाज जिसमें एक टीम वर्क आइकन, एक टीम मीटिंग और सहयोग करने वाले वर्कबोर्ड के सामने खड़े दो लोग शामिल हैं।
एक कोलाज जिसमें एक टीम वर्क आइकन, एक टीम मीटिंग और सहयोग करने वाले वर्कबोर्ड के सामने खड़े दो लोग शामिल हैं।
विशेषज्ञ संगठनों के साथ मिलकर काम करना

हमारा कार्यक्रम, उन एनजीओ और सरकारी एजेंसियों के लिए पूरी तरह सही है जो नुकसान पहुंचाने वाले ऑनलाइन कॉन्टेंट की पहचान करने और उससे निपटने वाले विशेषज्ञों के तौर पर काम करते हैं. इनके पास, कम से कम किसी एक नीति के क्षेत्र में विशेषज्ञता होती है. हम यह भी देखते हैं कि इन संगठनों के पास, हमें अनुरोध सबमिट करने की क्षमता है या नहीं. साथ ही, वे इन मुद्दों पर साथ मिलकर काम करना चाहते हैं या नहीं. हम उम्मीद करते हैं कि शिकायत करने वाले, किसी भी कॉन्टेंट की शिकायत करते समय निष्पक्ष रहेंगे और मानवाधिकारों का पूरा ध्यान रखेंगे.

डीएसए के भरोसेमंद फ़्लैगर

हमारे Priority Flagger Program के लिए किसी भी कानूनी समझौते की ज़रूरत नहीं होती. इसमें लोग अपनी मर्ज़ी से शामिल हो सकते हैं. साथ ही, यह काफ़ी अहम और कॉन्टेंट की शिकायत करने वाले चैनल से अलग है, जैसे कि डीएसए के भरोसेमंद फ़्लैगर की ज़रूरी शर्तें.

डीएसए के आर्टिकल 22 के तहत, हमारी साझेदारी की ज़िम्मेदारियों के बावजूद, हम गैर-कानूनी कॉन्टेंट की शिकायत करने वाले ऐसे मान्य नोटिस को प्राथमिकता देते हैं जिसे भरोसेमंद फ़्लैगर की मान्यता पा चुकी इकाई ने सबमिट किया है. यह मान्यता, सदस्य देश की डिजिटल सेवाओं के कोऑर्डिनेटर (डीएससी) से मिलती है. अगर आपको अपने डीएससी से डीएसए के भरोसेमंद फ़्लैगर की मान्यता मिली है, तो आपको यहां इस कार्यक्रम में शामिल होने के बारे में दस्तावेज़ मिल सकते हैं.

बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट

इलस्ट्रेशन में जानी-मानी कंपनियों के लोगो दिखाए गए हैं और बीच में बच्चों की सुरक्षा वाले एपीआई का आइकॉन है. ये सभी लोगो, एपीआई के आइकॉन का चक्कर लगा रहे हैं.
यौन शोषण से निपटने के लिए अन्य संगठनों को टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराना

Google और YouTube ने बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट डेवलप की है, ताकि संगठन बच्चों को सुरक्षित रखने की दिशा में आसानी से काम कर सकें. इसमें दो एपीआई मौजूद हैं: Content safety API और CSAI Match. हम कार्यक्रम में शामिल पार्टनर को ये दोनों एपीआई, बिना किसी शुल्क के उपलब्ध कराते हैं. इन टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से हमारे पार्टनर, हर साल करोड़ों फ़ाइलों को प्रोसेस करते हैं. इससे उन्हें यौन शोषण वाले कॉन्टेंट के लिए, लाखों इमेज और वीडियो की जांच करने में मदद मिलती है और वे सबसे गंभीर कॉन्टेंट को प्राथमिकता के साथ समीक्षा के लिए उपलब्ध करा पाते हैं.

इलस्ट्रेशन में जानी-मानी कंपनियों के लोगो दिखाए गए हैं और बीच में बच्चों की सुरक्षा वाले एपीआई का आइकॉन है. ये सभी लोगो, एपीआई के आइकॉन का चक्कर लगा रहे हैं.
यौन शोषण से निपटने के लिए अन्य संगठनों को टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराना

Google और YouTube ने बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट डेवलप की है, ताकि संगठन बच्चों को सुरक्षित रखने की दिशा में आसानी से काम कर सकें. इसमें दो एपीआई मौजूद हैं: Content safety API और CSAI Match. हम कार्यक्रम में शामिल पार्टनर को ये दोनों एपीआई, बिना किसी शुल्क के उपलब्ध कराते हैं. इन टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से हमारे पार्टनर, हर साल करोड़ों फ़ाइलों को प्रोसेस करते हैं. इससे उन्हें यौन शोषण वाले कॉन्टेंट के लिए, लाखों इमेज और वीडियो की जांच करने में मदद मिलती है और वे सबसे गंभीर कॉन्टेंट को प्राथमिकता के साथ समीक्षा के लिए उपलब्ध करा पाते हैं.

बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट पाने के लिए अनुरोध सबमिट करें

उद्योग और नागरिक समाज संगठन, बच्चों से बुरे बर्ताव वाला कॉन्टेंट अपने प्लैटफ़ॉर्म पर दिखाने से रोकने के लिए, बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी टूलकिट ऐक्सेस करने का आवेदन सबमिट कर सकते हैं. हम समीक्षा करेंगे कि आपका संगठन यह टूलकिट पाने की ज़रूरी शर्तें पूरी करता है या नहीं. इसके बाद, हम आपको इसकी जानकारी देंगे.

हमारे पार्टनर के टेस्टिमोनियल पढ़ें